School of Economics | Admin
1
archive,paged,author,author-admin,author-1,paged-36,author-paged-36,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-11.1,qode-theme-bridge,wpb-js-composer js-comp-ver-5.1.1,vc_responsive

C.P. Chandrasekhar and Jayati Ghosh As is widely recognised, India’s economic growth since the 1990s has largely been on account of an expansion of the services sector, in which exports are seen as having played an important role. The rise in the share of services in...

1. मिशन रक्षा ज्ञान शक्ति'* रक्षा उत्पादन विभाग ने 'मिशन रक्षा ज्ञान शक्ति' नामक एक नया ढांचा स्थापित किया है जिसका उद्देश्य स्वदेशी रक्षा उद्योग में आई.पी.आर. संस्कृति को बढ़ावा प्रदान करना है। यह बौद्धिक संपदा अधिकार (आई.पी.आर.) आवेदनों को सफलतापूर्वक भरने में मदद करेगा। संबंधित जानकारी बौद्धिक संपदा...

वैश्विक इतिहास का काला पृष्ठ:- ------------------------------------ "गोवा इक्वीजिशन" सुनने पर यह आपको लग सकता है कि यह कोई नवीन तकनीक थी जो गोवा में ईसाई दस्युयों ने अपनाया था। जी नहीं, ऐसा नहीं है इसाईयित का जन्म ही हुआ है बर्बर डकैती और गुलामी को अपनाकर। रोमन सम्राट कांस्टेनटाइन...

*1.ग्रीनहाउस गैस बुलेटिन रिपोर्ट: डब्लू.एम.ओ.* विश्व मौसम संगठन ने अपनी वार्षिक फ्लैगशिप रिपोर्ट 'ग्रीनहाउस गैस बुलेटिन' जारी की है जो वार्षिक रूप से प्रकाशित की जाती है। रिपोर्टों में पाया गया है कि वायुमंडल में ग्रीनहाउस गैसों का स्‍तर एक नए आंकड़े पर पहॅुंच गया है। रिपोर्ट में...

Who Should Control India’s Central Bank?  JAYATI GHOSH The standoff between India's government and the Reserve Bank of India isn't problematic because of the risk of infringing on central-bank independence. It is problematic because, rather than fighting to protect the public interest, the government's goal is to...

Prabhat Patnaik This year marks the seventy-fifth anniversary of the Bengal famine of 1943, a heart-rending episode in which 3 million persons died, and which epitomized the callousness of imperialism. The scale of devastation can be understood if we remember that in the United Kingdom, taking...

Prabhat Patnaik The Modi government’s spat with the Reserve Bank of India, like its sudden resurrection of the Ram temple project, indicates the desperation it feels at its dwindling electoral appeal. Having dealt a huge blow to the small-scale sector through its measures like demonetization and...

  1.श्रीलंका में संसद भंग होने के साथ खत्म हुई अनिश्चितता • श्रीलंका में उत्पन्न राजनीतिक संकट का समाधान नहीं निकलने के बाद राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेन ने संसद को भंग कर दिया। इसके साथ ही देश में मध्यावधि चुनाव का रास्ता साफ हो गया है। • राष्ट्रपति द्वारा...

मोदी राज में बैंकिंग व वित्तीय सेक्टर के घपले-घोटाले और गहराता आर्थिक संकट मुकेश असीम अगस्त-सितम्बर महीने के घटनाक्रम, जिसे कई आर्थिक जानकार शुरू से ही भारत का लीमान ब्रदर्स मान रहे थे, को शुरू में पर्दे के पीछे से ही एलआईसी व एसबीआई के ज़रिये सँभालने...