School of Economics | नोटा : बौद्धिक विलासिता की उपज
621
archive,tag,tag-621,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-11.1,qode-theme-bridge,wpb-js-composer js-comp-ver-5.1.1,vc_responsive

  (विजय कुमार चौधरी, अध्यक्ष, बिहार विधानसभा) (साभार हिंदुस्तान ) उच्चतम न्यायालय के तीन सदस्यीय पीठ ने 21 अगस्त को चुनाव आयोग द्वारा राज्यसभा चुनाव में नोटा (इनमें से कोई नहीं) विकल्प के प्रावधान की अधिसूचना को रद्द कर दिया। प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के साथ एएम खानविलकर...