School of Economics | Financial Resolution and Deposit Insurance Bill
334
archive,tag,tag-financial-resolution-and-deposit-insurance-bill,tag-334,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-11.1,qode-theme-bridge,wpb-js-composer js-comp-ver-5.1.1,vc_responsive

रस्किन बांड की एक लघुकथा में एक हास्य-त्रासद परिदृश्य आया है जहाँ एक बेतरतीब टिप्पणी से घटनाओं का एक क्रम शुरू हो गया और परिणामस्वरूप एक स्थानीय बैंक के लगभग दिवालिया हो जाने की नौबत आ गई। पीपलनगर बैंक के सफाईकर्मी लड़के नाथू ने अपने...