School of Economics | Economic Reform
405
archive,tag,tag-economic-reform,tag-405,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-11.1,qode-theme-bridge,wpb-js-composer js-comp-ver-5.1.1,vc_responsive

🤗🤗🤗🤗🤗🤗🤗🤗 *By_शिवानंद द्विवेदी* किसी भी व्यक्ति के सशक्त होने का मानदंड क्या हो सकता है? इसका सबसे करीब उत्तर नजर आता है-आर्थिक मजबूती। जो व्यक्ति आर्थिक तौर पर जितना संपन्न होता है, समाज के बीच वह उतने ही सशक्त तरीके से अपनी उपस्थिति दर्ज कराता है। भारत...