School of Economics | Discover, Learn & Grow
0
home,blog,paged,paged-46,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode_grid_1300,qode-content-sidebar-responsive,qode-theme-ver-11.1,qode-theme-bridge,wpb-js-composer js-comp-ver-5.1.1,vc_responsive

*_जीडीपी संख्या पर बड़ी तस्वीर_* *_written by-Arun kumar_* _जीडीपी पर नए आंकड़े ने 1 993-9 4 के बाद जीडीपी विकास के लिए पिछली श्रृंखला के साथ राजनीतिक तूफान उठाया है। इसका महत्व इस तथ्य में निहित है कि 2015 में, एक नई श्रृंखला की घोषणा की गई...

  1.सुप्रीम कोर्ट ने उठाई एससी, एसटी प्रोन्नति कोटे में ‘क्रीमीलेयर’ की बात • सुप्रीम कोर्ट ने उच्च पदों पर आसीन अफसरों के बच्चों को सरकारी नौकरी में प्रोन्नति में आरक्षण का लाभ देने के औचित्य पर सवाल उठाया है। कोर्ट ने पूछा है कि संपन्न वर्ग...

  1.भारत-पाक रिश्ते सुधारने में रचनात्मक भूमिका चाहता है चीन • चीन ने बुधवार को कहा कि वह भारत और पाकिस्तान के बीच संबंधों को सुधारने में रचनात्मक भूमिका निभाना चाहता है। चीन ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पाकिस्तान के अपने समकक्ष इमरान खान को...

समसामयिकी 1.राज्य सभा चुनाव में नोटा विकल्प की अनुमति नहीं • उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को एक महत्वूपूर्ण फैसले में कहा कि राज्यसभा चुनाव में ‘‘ उपरोक्त में से कोई नहीं ’ अर्थात (नोटा) के विकल्प की अनुमति नहीं दी जा सकती। • मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति...

रुपया : चिंता न करें गिरावट की (अनिल उपाध्याय) तेज़ी से बदलती भारतीय ढांचागत व्यवस्था एवं उच्चतम स्तर के रिर्चव आज की समस्या को अलग तरीके से देखे जाने के लिए बाध्य करते हैं। कुछ विशेषज्ञ मानते हैं कि बिना स्ट्रेटैजिक डीवैल्यूएशन के निर्यात को लाभ होने...

*दैनिक समसामयिकी* 1.भारत से निर्बाध वार्ता जरूरी: पाक : पड़ोसियों से संबंध सुधारने से ही पाक में आएगी शांति : इमरान • पाकिस्तान के नए विदेश मंत्री शाह महमूह कुरैशी ने सोमवार को कहा कि दोनों पड़ोसियों के बीच समस्याओं को सुलझाने के लिए भारत के साथ...

*_SOurce  by-: सुपर्णा जैन_* _हाल ही में, उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने घोषणा की कि "एवियन और जलीय समेत संपूर्ण पशु साम्राज्य" में एक अलग व्यक्तित्व और एक जीवित व्यक्ति के संबंधित अधिकार, कर्तव्यों और देनदारियां हैं। नेपाल और भारत के बीच घोड़े के गाड़ियां / tongas...

जनगणना 2011 जनगणना एक देश की जनसंख्‍या के संदर्भ में सांख्‍यिकी आंकड़ों को एकत्र करने, संकलित करने, विश्‍लेषण, मूल्‍यांकल, प्रकाशन और प्रसार करने की प्रक्रिया है। इसमें जन्‍म-मृत्‍यु से संबंधित आंकड़े, सामाजिक और आर्थिक आंकड़े शामिल होते हैं। इसे हर दस वर्ष में आयोजित किया जाता है। इसे 1871...

1.चालू खाता घाटा ढाई फीसद तक पहुंचने की आशंका • महंगे कच्चे तेल की वजह से चालू वित्त वर्ष में भारत का चालू खाता घाटा सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 2.5 फीसद पर पहुंच सकता है। डॉलर के मुकाबले रुपये में आई गिरावट से स्थिति और...